मोदी सरकार को अंदाजा नहीं था इतने नाराज हो जाएंगे लोग,जानिये लोगो की नाराजगी की वजह

#NOTA समर्थको में सबसे ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता ,संगठन की उपेक्षा हैं बड़ी वजह

0
195

कुछ दिन पहले तक अपराजित लगने वाली मोदी सरकार हाल के दिनों ने कमजोर पड़ती नजर आ रही हैं,भाजपा की सरकार के लिए सबसे बढ़ी समस्या खुद भाजपा के ही वोटर्स बनते जा रहे हैं.भाजपा सरकार के एक के बाद एक लिए जा रहे तानाशाही फैसलों से आखिरकार जन मानस उकता गया और सोशल मीडिया से लेकर बाजार की चर्चाओं में भी लोगो की नाराजगी देखी जा सकती हैं.जो लोग भाजपा के अलावा किसी को वोट नहीं देना चाहते वो भाजपा को सबक सिखाने के लिए नोटा दबाओ अभियान चला रहे हैं .

जानकारों की माने तो नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी पर भाजपा कार्यकर्ता भगवान से  भी ज्यादा भरोसा करने लग गए थे उन्हें भरोसा था कि ये जुगल जोड़ी जो भी करेगी हिंदुत्व और राष्ट्र के हित में ही करेगी तो फिर अचानक से ऐसा क्या हो गया कि लोग नाराज होने शुरू हो गए और इंटरनेट पर #Nota का समर्थन करने लगे .

आइये नजर डालते हैं जनता कि नाराजगी की वजह जो जायज भी लगती हैं .

  • जमीनी स्तर पर संगठन में कार्यकर्ता की नहीं सुनी जा रही,नेता व् पदाधिकारी सत्ता मद में मदहोश हैं भाजपा के पुराने कार्यकर्ताओं की बजाय दुसरे दलों से आये लोगो को ज्यादा अहमियत दी जा रही हैं जिससे भाजपा का कार्यकर्ता ठगा सा महसूस कर रहा हैं .
  • भाजपा पहले कांग्रेस को वंशवादी कहते हुवे खुद के लोकतांत्रिक और आमजन की पार्टी होने का दावा करती थी मगर वर्तमान में भाजपा में शीर्ष के अलावा किसी नेता या कार्यकर्ता को राय देने का अधिकार नहीं रहा हैं ,पार्टी जो फैसला लेती हैं गलत या सही उसको जस का तस स्वीकार करने का दवाब बनाया जा रहा हैं .
  • लोगो ने हिंदुत्व के नाते भाजपा को वोट दिया था गौ हत्या बंद व् राम मन्दिर का मुद्दा महत्वपूर्ण था मगर आज सरकार दोनों मुद्दों पर कुछ भी बोल नहीं रही ,जिससे लोगो की भावनाएं आहत हो रही हैं.
  • लोगो को उम्मीद थी कि भाजपा आरक्षण हटा देगी,मगर दलित वोटो के लालच में भाजपा ने आरक्षण हटाने के बजाए उल्टे SC/ST Act (अनुसूचित जाति एवं जनजाति विधेयक, 2018) को लागू कर दिया,जिससे आरक्षण के कारण बेरोजगार सवर्ण युवा और ज्यादा आक्रोशित हो गया.
  • सरकार को जमीनी स्तर पर अपने काम का प्रचार नहीं कर पायी.
  • इस सरकार ने मुस्लिमों के खिलाफ कुछ नहीं किया, लेकिन धारणा बनी हुई है कि यह सरकार मुस्लिम विरोधी है.
  • लोगो ने राष्ट्रवाद और हिंदुत्व के नाम पर मोदी को वोट के साथ नोट भी दिए,देश हित में नोट बंदी और जीएसटी को सहन किया,आर्थिक मंदी और घाटे के बाद भी लोगो को राहत देने का कोई प्रयास सरकार नहीं कर रही. छोटे व्यापारी कारोबार बंद होने और कर्ज से परेशान हैं.
  • किसानों को कोई फायदा मोदी सरकार इस कार्यकाल में नहीं पहुंचा पायी ,जो घोषणा भी हुई वो कागजों में ही उलझ गयी किसानो तक समय रहते बिजली,पानी  व् कर्ज माफ़ी में सरकार नाकाम रही.प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में भी किसानो को धोखा ही मिला,बीमा राशि ले ली गयी पर क्लेम नहीं मिला जिससे किसान नाराज हैं.
  • बढ़ते पेट्रोल डीजल के भाव और प्रतिदिन बढती महंगाई भी लोगो की नाराजगी की बड़ी वजह हैं .

इन सबसे परेशान होकर ही लोगो ने सोशल मीडिया पर #Nota का अभियान चलाया हैं,जिसमें भाजपा कार्यकर्ता भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं. लोग कांग्रेस को वोट देना नहीं चाहते और भाजपा लोगो की भावनाओं को समझ नहीं रही इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोगो को #Nota अभियान से जोड़ा जा रहा हैं ताकि सरकार को समझ आये कि भाजपा समर्थको का एक बड़ा वर्ग 2019 के लोकसभा चुनाव और राज्यों के चुनाव में उससे दूर जा सकता हैं .

इस पोस्ट में अपनी राय व्यक्त करें ,कमेन्ट बॉक्स में टिप्पणी छोड़े और पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरुर करें .

Leave a Reply